व्यवसाय चयन के प्रति लैंगिग रूढ़िबद्धता और स्त्रीयो पर इसके प्रभाव के प्रति जागरूकता के लिए किया सेमिनार का आयोजन संपन्न

4 मई २०१९ का दिन युवाओ के लिए  अत्यंत खास रहा, व्यवसाय चयन के प्रति  लैंगिग रूढ़िबद्धता और स्त्रीयो पर इसके प्रभाव  के प्रति जागरूकता के लिए महात्मा गाँधी कशी विद्यापीठ में नेशनल कमीशन फॉर वूमेन और महात्मा गाँधी काशी विद्यापीठ कैंपस प्लेसमेंट सेल की तरफ किया सेमिनार का आयोजन किया गया जिसमे कई शहरों के टीचर्स और प्रोफेसरो ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया । कार्यकर्म की शुरुवात डॉ. बंशीधर पांडेय ने स्वागत सम्बोधन के साथ किया । कार्यक्रम में महाराजा गंगा सिंह यूनिवर्सिटी की पूर्व कुलपति प्रो. चन्द्रकला पड़िया सम्मानीय अतिथि रही ।  कार्यक्रम के दौरान महात्मा गाँधी काशी विद्यापीठ के कुलपति प्रो. टी. एन. सिंह ने छात्रों का मार्ग दर्शन किया, उन्होंने बताया की की महिला सशक्तिकरण जरूरी है किन्तु नारी आंदोलन जैसा शब्द   एक  द्वन्द को जन्म देता है । उन्होंने बताया की समाज के संतुलन के लिए नारी और पुरुष को एक दूसरे के पूरक होने की आवश्कयता है न की प्रतिद्वंदी ।  कार्यक्रम के चीफ गेस्ट जन नायक चंद्रशेखर यूनिवर्सिटी कुलपति पद्मश्री  के  प्रो. योगेंद्र सिंह ने भी महिला बुनकरों के आधुनिक कार्य प्रणाली  और उसे स्थापित करने के पीछे के संघर्ष के बारे में बताया।

नीव इंडिया की अध्यक्ष सुप्रिया व्यास ने बताये महिला  की छतो से वर्टीकल खेती का व्यापार के फायदे 

कार्यक्रम के दौरान नीव इंडिया के अध्यक्ष ने महिलाओँ के आधुनिक व्यवसाय के चुनाव हेतु NGO और सामाजिक संगठनो की भूमिकाओं की व्याख्या करते हुए नीव इंडिया ट्रस्ट द्वारा महिलाओँ के सशक्ति करण के लिए स्वरोजगार  को बढ़ावा देने पर जोर दिया, उन्होंने आगे बताया महिलाओँ आज पारम्परिक और पुराने व्यवसाय की जगह आधुनिक व्यवसाय करना चाहिए जिससे वो ज्यादा से ज्यादा आय कर पाएं ।  इनकी इन चीजों को ध्यान में रखते हुए नीव इंडिया ट्रस्ट ने महिलाओँ के लिए कई सारे आधुनिक प्रोजेक्ट्स का शुभारंभ जैसे वर्टीकल खेती, मेडिकल प्लांटेशन, और एग्रो बिज़नेस जिसे वो अपने घर के छतो से कर सकते है तथा जिसके लिए नीव इंडिया उनको लोन भी मुहैया करवाएगा तथा सम्पूर्ण प्रशिक्षण भी निशुल्क: देगा । इस प्रोजेक्ट की ख़ास बात ये है की उनके द्वारा पैदा किये गए सब्जियां तथा मेडिकेटिड प्लांट्स वो ही होंगे जिनके राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय मार्किट में काफी डिमांड्स है तथा प्रोडक्ट्स पूरी तरह तैयार होते ही नीव इंडिया की खुद उनके घर से प्रोडक्ट्स इकट्ठा कर अपने ऑनलाइन  पोर्टल के द्वारा बेचेगी । इससे महिलाओँ को घर बैठे एक सुरक्षित व्यापर करने और अधिक आय करने का मौका मिलेगा ।  कार्यक्रम में मुख्य आयोजक डॉ. रमन पंत, डॉ. निशा सिंह तथा डॉ. संदीप गिरी आदि मौजूद रहे।

Related News