राहुल गांधी को मिलेगी राहत या कोर्ट में होंगे हाजिर, HC में 5 अगस्‍त को फैसला

राहुल गांधी को मिलेगी राहत या कोर्ट में होंगे हाजिर, HC में 5 अगस्‍त को फैसला  अमित शाह को हत्‍यारोपी कहने के मामले में कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी को राहत मिलेगी, या फिर उन्‍हें कोर्ट में हाजिर होना पड़ेगा। झारखंड हाई कोर्ट अब इस पर 5 अगस्‍त को फैसला सुनाएगा। बुधवार को इस मामले में विशेष सुनवाई होनी थी, लेकिन राहुल गांधी के अधिवक्‍ता के शहर से बाहर रहने के कारण सुनवाई टल गई। अदालत ने अगली सुनवाई के लिए 5 अगस्त की तिथि निर्धारित की। दिल्‍ली के रामलीला मैदान में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में रांची की निचली अदालत ने राहुल गांधी के खिलाफ समन जारी किया है। कांग्रेस के निवर्तमान अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस समन को झारखंड उच्‍च न्‍यायालय में चुनौती दी है। राहुल गांधी की याचिका पर बुधवार को जस्टिस एके गुप्ता की अदालत में सुनवाई होनी थी। इस मामले में मंगलवार को आंशिक सुनवाई के दौरान प्रार्थी की ओर से विशेष सुनवाई का आग्रह किया गया था। जिसे उच्‍च अदालत ने स्वीकार कर लिया। हालांकि, कांग्रेस नेता राहुल गांधी के अधिवक्ता की ओर से समय की मांग की गई थी। रांची के हरमू निवासी भाजयुमो नेता नवीन कुमार झा ने निचली अदालत में इस मामले में याचिका दाखिल की है।

याचिका में राहुल गांधी पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर अपमानजनक टिप्पणी करने का आरोप लगाया गया है। शिकायतवाद में कहा गया है कि दिल्‍ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस के राष्ट्रीय महाधिवेशन में राहुल गांधी ने कहा था कि भाजपा अमित शाह जैसे हत्या के आरोपित को अध्यक्ष के रूप में स्वीकार कर सकती है, लेकिन कांग्रेस ऐसा नहीं कर सकती। शिकायतकर्ता ने कहा है कि राहुल गांधी के बयान से उन्हें गहरा आघात लगा है। तब प्रतिवादी की ओर से राहुल गांधी के खिलाफ निचली अदालत में शिकायतवाद दर्ज कराई गई। इस पर संज्ञान लेते हुए अदालत ने राहुल गांधी को समन जारी किया है, जिसे झारखंड हाई कोर्ट में चुनौती दी गई है। 

Related News