IND vs WI भुवनेश्वर कुमार ने खोला सफलता का राज, बतायाकैसे ले सकते हैं अधिक विकेट

भुवनेश्वर कुमार ने खोला सफलता का राज, बताया  कैसे ले सकते हैं अधिक विकेट भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने कहा है कि वेस्ट इंडीज के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान उनके दिमाग में रन बनाने से रोकना था, विकेट चटकाना नहीं, क्योंकि उनका मानना है कि किफायती गेंदबाजी का फायदा हमेशा मिलता है। भुवनेश्वर ने 31 रन देकर चार विकेट चटकाए, जिससे भारत ने वर्षा से प्रभावित मैच में वेस्ट इंडीज को डकवर्थ लुईस पद्धति के तहत 59 रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाई। भुवनेश्वर ने मैच के बाद कहा, ‘जब मैं गेंदबाजी के लिए आया तो सिर्फ इतना सोच रहा था कि मुझे किफायती गेंदबाजी करनी है, अधिक खाली गेंद फेंकनी हैं। मुझे लगता है कि अगर आप किफायती गेंदबाजी करोगे तो विकेट अपने आप मिलेंगे। मैं नतीजे के बारे में अधिक नहीं सोचता, क्योंकि हमें पता है कि अगर हम एक या दो विकेट चटकाएंगे तो मैच में वापसी कर लेंगे।’भारत ने कोहली की 125 गेंद पर 14 फोर और एक सिक्स की मदद से 120 रन की पारी से 7 विकेट पर 279 रन बनाए। यह वनडे में उनका 42वां शतक है। उन्होंने श्रेयस अय्यर (68 गेंदों पर 71) के साथ चौथे विकेट के लिये 125 रन की साझेदारी की। भुवनेश्वर ने कहा, ‘आप विराट के हावभाव से देख सकते हैं कि उसे इस शतक की कितनी जरूरत थी। इसलिए नहीं कि वह फार्म में नहीं था बल्कि इसलिए, क्योंकि वह 70 और 80 रन के स्कोर पर आउट हो रहा था और उसे हमेशा से बड़ी पारियां खेलने के लिए जाना जाता है।’ 

कोहली ने अपना पिछला शतक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मार्च में बनाया था। उन्होंने इसके बाद विश्व कप में पांच अर्धशतक लगाए लेकिन शतक बनाने में विफल रहे। भुवनेश्वर ने कहा, ‘विकेट आसान नहीं था, जब विराट ड्रेसिंग रूम में लौटा तो उसने कहा कि गेंद पुरानी होने के बाद रन बनाना आसान नहीं है।’ भुवनेश्वर ने कहा कि बढ़त बनाने के बाद वह अब सीरीज जीतना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘हम सीरीज में आगे हैं और इसे जीतना चाहते हैं। आप जब विदेश में खेल रहे होते हो तो सिर्फ सीरीज जीतना चाहते हो।’ 
भारत ने दूसरे वनडे में वेस्ट इंडीज को डकवर्थ लुइस (DLS) के तहत मेजबान वेस्ट इंडीज को 59 रनों से हरा दिया। भारत ने 7 विकेट पर 279 रन बनाए थे। बारिश की वजह से विंडीज को 46 ओवर में 270 रन का लक्ष्य मिला। इस मैच के लिए सबकी निगाहें यूनिवर्स बॉस यानी क्रिस गेल पर थी, लेकिन वह महज 11 रन बनाकर आउट हो गए। हालांकि, बावजूद इसके उनके नाम कई रेकॉर्ड बने... अब वह 6 मामलों में वेस्ट इंडीज के पहले क्रिकेटर बन गए हैं

Related News