चंद्रयान-2: पीएम मोदी का भाषण चीफ के सिवन हुए भावुक, ऐसा था इसरो सेंटर का माहौल

चंद्रयान 2 शुक्रवार देर रात चांद से महज 2 किलोमीटर की दूरी पर आकर कहीं 'खो' गया। इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने शनिवार सुबह इसरो वैज्ञानिकों को संबोधित किया। भाषण के दौरान पीएम ने मिशन से जुड़े सभी लोगों की हौसलाअफजाई की। इस दौरान मिशन पूरा न होने पर इसरो सेंटर में मायूसी थी, मोदी के भाषण खत्म होने पर इसरो चीफ भावुक भी हुए भारत का महत्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान शुक्रवार देर रात चांद से महज 2 किलोमीटर की दूरी पर खो गया। चांद की सतह की ओर बढ़ा विक्रम का चांद की सतह से 2.1 किलोमीटर पहले संपर्क टूट गया। इसके बाद किसी अनहोनी की आशंका से इसरो मुख्यालय में सन्नाटा छा गया। इसरो के चेयरमैन के.सिवन ने पीएम मोदी को ब्रीफ किया। विक्रम से संपर्क नहीं होने की स्थिति में सन्नाटा छा गया।
जब विक्रम से संपर्क टूट गया तो इसरो के चेयरमैन के.सिवन ने बताया, 'विक्रम लैंडर के चांद पर उतरने का मिशन योजना के मुताबिक ही काम कर रहा था और 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई तक सबकुछ नॉर्मल था। उसके बाद विक्रम का ग्राउंड स्टेशन से संपर्क टूट गया। डेटा का अभी विश्लेषण किया जा रहा है।'क्या विक्रम लैंडर क्रैश हो गया है, इस पर इसरो के वैज्ञानिक देवीप्रसाद कार्निक ने जवाब दिया, 'डेटा का विश्लेषण किया जा रहा है। अभी तक हम किसी परिणाम पर नहीं पहुंचे हैं। इसमें टाइम लगेगा। हम अभी कुछ भी निश्चित तौर पर नहीं कह सकते हैं।'

विक्रम से संपर्क टूटने पर वैज्ञानिकों में निराशा था। पीएम मोदी ने इस मौके पर उनका हौसला बढ़ाया। पीएम मोदी ने उनसे कहा, आप पर मुझे गर्व है।  
देश भर से 60 छात्र भी विक्रम की चांद पर लाइव लैंडिंग देखने आए थे। 'स्पेस क्विज प्रतियोगिता' के माध्यम से उन बच्चों का इसरो द्वारा चयन किया गया था। पीएम मोदी ने इस मौके पर उन छात्रों से भी बातचीत की।क्रम के चांद के बहुत करीब आकर संपर्क टूटने से निराशा माहौल था।

Related News